How to create knowledge graph and get verified

आपने Google पर कोई particular word को search किया है, जैसे की Narendra Modi, Rahul Gandhi या Election Comission of India (ECI). इनमें से कोई व्यक्ति है, तो कोई संगठन। इनके बारे में गुगल अपने search results में, जिसे inside search भी कहते हैं, एक Knowledge Pannel के जरिये दिखाता है। जैसे कि नरेन्द्र मोदी को दिखाता है कि ये भारत के प्रधानमंत्री है, इनकी पढाई कहाँ हुई, इनका जन्म कहाँ और कब हुआ। ये समझ सकते है कि इनके बारे मे लगभग जानकारी inside search मे होती है। जैसे की अगर आप Akshay Kumar को खोजेंगे तो उनके बारे में एक छोटा सा Knowledge Graph खुलेगा जिसमे लिखा होगा कि यह एक भारतीय फिल्म एक्टर है, जिनका जन्म पंजाब में हुआ है और भी छोटी-मोटी जानकारी।

 

How many type of Google Knowledge Pannel?

  1. Person
  2. Organization
  3. Local or Location
  4. Books
  5. Music or Video
  6. Painting
  • Person :

    Person Knowledge Graph में अनेक प्रकार के Schema होते है, जैसे की Actor के लिए अलग तो Author के लिए अलग। नीचे दिए Schema Codes से आप समझ सकते है, कि कितने प्रकार के Person Schema है :-

ये सामान्य व्यक्ति के लिए कोड है :

<script type=”application/Id+json”>
{
“@context” : “https://schema.org”,
“@type” : “Person”,
“name” : “your name”,
“url” : “http://www.yoursite.com”
“image” : “http://yoursite.com/images/yourphoto.jpeg”
“sameAs” : [
“http://facebook.com/your-profile”,
“http://twitter.com/@your-profile”,
“http://instagram.com/yourprofile”,
“http://youtube.com/yourchannel”
]
}
</script>

यही कोड अगर HTML में लिखना हो, तो

<span itemscope itemtype=”http://schema.org/Person”>
<link itemprop=”url” href=”http://www.yourname.com”>
<a itemprop=”sameAs” href=”http://facebook.com/you”>Facebook</a>
<a itemprop=”sameAs” href=”http://twitter.com/you”>Twitter</a>
</span>

Note: अगर यही कोड किसी लेखक के लिए लिखा जाए या किसी गायक के लिए लिखा जाए, तो इसी कोड में sameAs कारके url से जोड कर Author मे Book और Singer में Song जोड़ सकते है।

  • Organization :

    Organization Knowledge Pannel में भी दो तरीके से देखा जाता है, पहला ये कि Knowledge Graph (जिसे Knowledge Card or Pannel भी कहते है।) के साथ Location Card भी होता है। और दुसरा जिसमें Org. Knowledge card ही होता है।

{
“@context”: “http://schema.org”,
“@type”: “Organization”,
“name”: “your company name”,
“url”: “http://www.yourcompany.com”,
“logo”: “http://www.yourcompany.com/images/logo.png”,
“contactPoint”: [
{ “@type”: “ContactPoint”,
“telephone”: “+91-822-801-1322”
“contactType”: “customer service”
}
]
“sameAs”: [
“http://facebook.com/yourcompany-page”
“http://twitter.com/yourcompany”
]
}

इसे अगर HTML में लिखा जाए, तो

<span itemscope itemtype=”http://schema.org/Organization”>
<link itemprop=”url” href=”http://your-company.com”>
<a itemprop=”sameAs” href=”http://facebook.com/yourcompanypage”>Facebook</a>
<a itemprop=”sameAs” href=”http://twitter.com/yourcompany”>Twitter</a>
</span>

  • Local or Location :

    Location का Knowledge Graph बनाना बहुत ही आसान होता है। इसे आप Google MyBusiness पर जोड़ कर Google Search के inside card में दिखा सकते है। जिसका कोड business के अनुसार लिखा जाता है। जैसे :

<script type=”application/ld+json”>
{
“@context”: “https://schema.org”,
“@type”: “Garage”,
“image”: [
“http://restaurant.com/photos/1×1/photo.jpeg”
“http://restaurant.com/photos/4×3/photo.jpeg”
],
“name”: “Sharmaji Chowk”,
“address”: {
“@type”: “PortalAddress”,
“streetAddress”: “your address”,
“addressLocality”: “India”,
“addressRegion”: “SV”,
“postalCode”: “841226”,
“addressCountry”: “IN”
}
}
</script>

  • Book :

    गुगल लोकेशन केे बाद गुगल के सारे नॉलेज ग्राफ में एक बुक का कोड ही ऐसा है, जो की आसानी से Google Crawl कर लेता है। मान लिजिए की आपका बुक प्रकाशित हुआ और दो या तीन महिनों के बाद आपका बुक गुगल के नॉलेज ग्राफ कार्ड में दिखाई देने लगेगा। आप अपना बुक “गुगल बुक” पर प्रकाशित कर सकते है, वहाँ से गुगल Knowledge Graph बनाता है। या फिर ये कोड जो नीचे दिया गया है। उसे अपने वेबसाइट में जोड़ दे।

<script type=”application/ld+json”>
{
“@context”:”http://schema.org”,
“@type”:”Book”,
“name” : “Blogging : Create your own blog”,
“author”: {
“@type”:”Person”,
“name”:”Gitesh Sharma”
},
“url” : “https://www.goodreads.com/author/show/18293657.Gitesh_Sharma”,
“workExample” : [{
“@type”: “Book”,
“isbn”: “9781727751130”,
“bookEdition”: “1st Edition”,
“bookFormat”: “http://schema.org/Paperback”,
“potentialAction”:{
“@type”:”ReadAction”,
“target”:
{
“@type”:”EntryPoint”,
“urlTemplate”:”https://books.google.com/books?id=BA90DwAAQBAJ”,
“actionPlatform”:[
“http://schema.org/DesktopWebPlatform”,
“http://schema.org/IOSPlatform”,
“http://schema.org/AndroidPlatform”
]
},
“expectsAcceptanceOf”:{
“@type”:”Offer”,
“Price”:141,
“priceCurrency”:”Rupee”,
“eligibleRegion” : {
“@type”:”Country”,
“name”:”IN”
},
“availability”: “http://schema.org/InStock”
}
}
}
]
}
</script>

नोट: ऊपर जितने प्रकार के कोड़ मैं दिया हुँ उसे आप अपने आवश्यकतानुसार अपने वेबसाइट में होम पेज पर डालें।

 

How to get verified my knowledge pannel on Google?

जहाँ तक में जानता हुँ कि तीन तरीके से नॉलेज ग्राफ को वेरिफाई किया जा सकता है: पहला Form भरकर, दुसरा नॉलेज पैनल के नीचे दिये Claim this knowledge pannel लिंक को कल्कि करके और तीसरा Own this business? Claim it now. (ये सामान्य तौर पर Local Business के नॉलेज पैनल में होता है) पर कल्कि कर कोड के द्वारा जिसे Google आपके पत्ते पर भेजता है।

  • Claim this knowledge pannel

    इस वाले विकल्प की हम अगर बात करे, तो ये वही व्यक्ति कर सकता है, जिसका ये नॉलेज पैनल है। जैसे हम Ajay Devgan की बात करे तो इनके नॉलेज पैनल में स्वंय ये ही Verified हो सकते है, Twitter or YouTube Id’s से लॉगिन होकर।

  • Through the get verify form filling

    इसके बारे में, मै पहले से लिख रखा हुँ। आप यहॉ पढ़ सकते है।

 

  • Own this business? Claim it now.

    इसके बारे में भी मै पहले से लिख रखा हुँ। आप यहॉ पढ़ सकते है।

आपकी नॉलेज पैनल जब स्यापित (Verified) हो जाएगी तब वह कुछ तरह से दिखेगी।

How to create knowledge graph for me?

आपके नाम से नॉलेज ग्राफ कब बन सकता है, सवाल ये नही है कि क्या आपके नाम से नॉलेज ग्राफ बन सकता है या नही? बल्कि ये सवाल ये है कि आपके नाम से सर्च इंजन पर कितने Open Source Data है?
अगर आप लेखक है या गायक है, तो आपका नॉलेज पैनल बहुत जल्दी बन सकता है या बना ही होगा बस आपको नॉलेज पैनल के Keywords को खोजना बाकी रह गया है।